December 31, 2011

बस यही कामना ..


तस्वीर पर जो धूल जमी थी 
मुस्कुराते हुए उस पर हाथ फेरा
बाकी रह गया था आँख भर आना
वो पूरा कर गया मेरा रुआँसा चेहरा | 

यादों के इस गुलदस्ते को सँजोए
बस दिल से एक ही आस उमड़ी
साथ रहे यह खुशियाँ, यह स्नेह
माँगता हूँ इश्वर फिर से वही |

मुस्कुराहट रखना बरक़रार यूँ ही
अग्रसर रखना सबको यूँ ही
राह के दीर्घ-दखल को
बौना कर जाए जो साहस वही |

शक्ति इतनी दे देना
की मरुस्थल अंकुरित हो उठे
जो संकल्प लिए उठ रहा हो 
तो मृत लता भी तर जाए |

स्वीकार हो हमें हर मार्ग वो
जहां हर्ष और रोमांच का मिलाप हो
ईर्ष्या, तृष्णा जहां श्वास लें 
ना उस से बढकर कोई अभिशाप हो |

 बस यही कामना जुटी है 
माँगता हूँ हर दिन तुमसे तो, 
पर यही दिल से आस है मेरी
पर यही दिल से आस है मेरी..
***********************************
Coloured Confessions wishes all its dear readers, a very happy and prosperous new year.
May God bless you with all the joys and peace in life ! 

6 comments:

  1. Greetings:

    Happy Happy New Year.

    Appreciated your support of 2011,

    Best Wishes for the year of 2012…

    Your contribution is always welcome!

    Lots of blessings and cheers sending your way.

    See you soon.

    xoxox

    ReplyDelete
  2. Same to you Promising Poets Parking Lot.
    Thanks a ton. Your words do mean a lot to us !
    :)
    XOXO !

    ReplyDelete